फर्जी निकला गणित का वायरल प्रश्नपत्र, मचा रहा हड़कंप



मैट्रिक परीक्षा के चौथे दिन सोमवार की सुबह सोशल मीडिया पर अचानक गणित का प्रश्नपत्र वायरल होने लगा। परीक्षा शुरू होने से पहले पूरे बिहार में मोबाइल पर प्रश्न पत्र के साथ आंसर भी वायरल होने लगा। लेकिन जब परीक्षा खत्म हुई और असली प्रश्न पत्र सामने आया और जब मिलान किया गया तो मामला फर्जी निकला। पता चला कि अफवाहें फैलाने की नीयत से वायरल किया गया था। 

दरअसल आज सुबह प्रश्नपत्र के साथ सॉल्व किया हुआ आंसर शीट भी वायरल हो रहा था। प्रश्न पत्र आज नौ बजे सुबह ही आ गया था। बहरहाल किसके मोबाइल पर प्रश्न पत्र और उत्तर वायरल हुआ है, इसकी जांच की जा रही थी।

बिहार बोर्ड के मैट्रिक की आज की परीक्षा परीक्षा शुरू होते ही गणित का प्रश्नपत्र लीक हो गया है और सोशल मीडिया पर आज सुबह से ही उत्तर के साथ प्रश्नपत्र वायरल हो रहा है। प्रश्नपत्र लीक होने की जानकारी मिलते ही हड़कंप मच गया है। अधिकारी जांच में जुट गए हैं, लेकिन अबतक ये पता नहीं चल सका है कि प्रश्नपत्र कहां से लीक हुआ है?
बेगूसराय जिले से वायरल प्रश्नपत्र को जांच के लिए बोर्ड के मुख्यालय भेजा गया है। अब परीक्षा खत्म होने के बाद ही पता चल सकेगा कि वायरल प्रश्नपत्र सही है या गलत। 

लखीसराय जिले में सोमवार को मैट्रिक परीक्षा के चौथे दिन परीक्षा शुरू होने से पहले ही गणित विषय का प्रश्न वायरल हुआ। सभी केंद्रों के बाहर परीक्षार्थियों ने मोबाइल से हल किया गया वस्तुनिष्ठ प्रश्न का चिट तैयार कर केंद्र में प्रवेश किया। परीक्षा शुरू होते ही एसडीओ मुरली प्रसाद सिंह केएसएस कॉलेज केंद्र पहुंचे जहां एक फर्जी परीक्षार्थी को पकड़ा। उसे परीक्षा से निष्कासित कर दिया गया।

बता दें कि शनिवार को प्रथम पाली में आयोजित विज्ञान का प्रश्न पत्र भी सुबह 9:30 बजे से ही सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। सोशल मीडिया के विभिन्न ग्रुपों में सुसज्जित प्रश्न पत्र के सभी सवालों को देखकर कुछ लोग बकवास तो कुछ लोग हकीकत बताते रहे। लेकिन, जैसे ही प्रथम पाली की परीक्षा संपन्न हुई और परीक्षार्थी बाहर निकले तो प्रश्नों का मिलान करने पर वे सभी प्रश्न सही पाए गए।

इसके साथ ही अधिकांश परीक्षार्थियों में चिंता भी देखी गई। कोई भी केंद्राधीक्षक और शिक्षा पदाधिकारी वायरल प्रश्नपत्र के मामले में कुछ भी बताने से इंकार करते रहे। 


EmoticonEmoticon